Tuesday, February 27, 2024
Home उत्तराखंड 'माणिक' है ‘माणा’ फिर भी 'चमक' रही फीकी, अब पीएम मोदी से...

‘माणिक’ है ‘माणा’ फिर भी ‘चमक’ रही फीकी, अब पीएम मोदी से बंधी ‘उम्मीद’

[ad_1]

देहरादून।  देश के प्रति समर्पण का इतना समृद्ध इतिहास होने के बावजूद इस सरहदी गांव का अपेक्षित विकास नहीं हो पाया। सामिरक दृष्टि से महत्वपूर्ण माणा गांव प्राकृतिक खूबसूरती के लिए भी प्रसिद्ध है। नीलकंठ चोटी, वसुधारा, सरस्वती नदी, माता मूर्ति मंदिर और न जाने कितने पर्यटन आकर्षण के केन्द्र इस गांव के समीप स्थित हैं। मौजूदा समय में यहां 216 परिवार निवास करते हैं। ये लोग अपनी सांस्कृति विरासत और परिधान के संवर्धन के लिए आज भी पूर्ण रूप से संकल्पबद्ध हैं।

आज देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी माणा आ रहे हैं। वह पहले प्रधानमंत्री हैं जो इस सीमांत गांव में जनसभा को सम्बोधित करेंगे। मोदी के आगमन को लेकर गांव के लोग उत्साहित हैं। ‘ऊन की लोई’ और ‘भोजपत्र पर लिखा एक अभिनन्दन पत्र’ वह अपने प्रधानमंत्री को सम्मान स्वरूप प्रदान करेंगे। ग्राम प्रधान पीताम्बर मोलफा का कहना है कि केन्द्र सरकार की ‘वाइब्रेंट विलेज’ योजना से माणा के ग्रामीणों को काफी उम्मीदें हैं।
 

1- समुद्र तल से 10,248 फीट की ऊंचाई पर स्थित माणा भारतीय सीमा का अंतिम गांव है।

2- पवित्र बदरीनाथ धाम से 3 किमी आगे भारत और तिब्बत की सीमा स्थित इस गांव का नाम भगवान शिव के भक्त मणिभद्र देव के नाम पर पड़ा था।

3- माणा से 24 किमी दूर भारत-चीन सीमा है। 1962 के भारत-चीन युद्ध तक माणा के भोटिया जनजाति निवासी जो मंगोल जाति के वंशज हैं, वे चीनी नागरिक समझे जाते थे। उन्हें भारतीय नागरिकता तक हासिल नहीं थी। सीमा पूरी तरह खुली और असुरक्षित थी। आर्मी तो दूर यहां कोई सुरक्षा बल भी तैनात न थे।

4- तब से 50 किमी दूर जोशीमठ से यहां पैदल आना होता था। यहां के नागरिक बताते हैं कि तब भारत दूर और चीन नजदीक था और चीनी नागरिक खुलेआम यहां तक आते थे। यहां तक कि माणा के निवासी भी चीनी भाषा बोलते और समझते थे।

5– इस सबके बावजूद भारत-चीन युद्ध में यहां के निवासियों ने चीन के दबाव और प्रलोभन को दरकिनार कर भारतीय फौज का साथ दिया और क्षेत्र को भारत में बनाए रखने में भूमिका निभाई।

6– इसके बाद सरकार का ध्यान यहां के नागरिकों और इस क्षेत्र पर गया तथा उन्हें नागरिकता और अन्य अधिकार मिले। बाद में बदरीनाथ और माणा तक सड़क भी पहुंचाई गई और आईटीबीपी की चौकी स्थापित की गई।

[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

मंत्री महाराज के उत्तर से संतुष्ट विपक्षी सदस्य महेश जीना ने किया आभार व्यक्त

सदन में महाराज के धाराप्रवाह जवाबों से विपक्ष की रणनीति फेल देहरादून। ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों के रिक्त 398 पदों में से उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा...

धामी सरकार ने वित्तीय वर्ष 2024-25 का बजट विधानसभा में किया पेश

वार्षिक बजट 2024-25 नवासी हजार दो सौ तीस करोड़ देखें, बजट में नया क्या है बजट भाषण में यूसीसी विधेयक को महिला सशक्तिकरण की दिशा में...

भिक्षावृत्ति के खिलाफ आपरेशन मुक्ति अभियान एक मार्च से होगा शुरू

भिक्षावृति में लगे बच्चों को शिक्षा मुहैया कराई जाएगी भिक्षावृत्ति की सूचना डायल 112 पर दें देहरादून। बच्चों से करायी जा रही भिक्षावृत्ति, बच्चों के साथ...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

मंत्री महाराज के उत्तर से संतुष्ट विपक्षी सदस्य महेश जीना ने किया आभार व्यक्त

सदन में महाराज के धाराप्रवाह जवाबों से विपक्ष की रणनीति फेल देहरादून। ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों के रिक्त 398 पदों में से उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा...

आज से ही छोडकर देखिए आलू, महीनेभर में समझ आ जाएगा फर्क, होंगे जबरदस्त फायदे

आलू सब्जियों का राजा कहा जाता है। हमारे किचन में आलू की खास जगह है। आलू से कई चीजें बनाई जाती है. बहुत से...

धामी सरकार ने वित्तीय वर्ष 2024-25 का बजट विधानसभा में किया पेश

वार्षिक बजट 2024-25 नवासी हजार दो सौ तीस करोड़ देखें, बजट में नया क्या है बजट भाषण में यूसीसी विधेयक को महिला सशक्तिकरण की दिशा में...

भिक्षावृत्ति के खिलाफ आपरेशन मुक्ति अभियान एक मार्च से होगा शुरू

भिक्षावृति में लगे बच्चों को शिक्षा मुहैया कराई जाएगी भिक्षावृत्ति की सूचना डायल 112 पर दें देहरादून। बच्चों से करायी जा रही भिक्षावृत्ति, बच्चों के साथ...

फिल्म योद्धा का गाना जिंदगी तेरे नाम हुआ रिलीज, सिद्धार्थ-राशि की केमिस्ट्री ने लूटी महफिल

करण जौहर की एक्शन थ्रिलर योद्धा सिनेमाघरों में दस्तक देने वाली है। फिल्म के टीजर में सिद्धार्थ मल्होत्रा का एक्शन तो आपने देखा होगा,...

किमाड़ी गुर्जर बस्ती में पीड़ित परिवारजनों से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाते कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी

देहरादून। मसूरी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत लोगों को निवाला बनाने वाल तथा घायल करने वाले गुलदार को कृषि मंत्री गणेश जोशी ने मसूरी विधानसभा...

कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों में भाजपा की सेंधमारी जारी

राजनीति- दो पूर्व ज़िला पंचायत अध्यक्ष व ओबीसी आयोग के पूर्व अध्यक्ष भाजपा में शामिल लोकसभा चुनाव की बेला में भाजपा के कुनबे में हो...

देश के सबसे सख्त नकल विरोधी कानून के बाद अब दंगाइयों के खिलाफ कठोर कानून लाएंगे सीएम धामी

विभिन्न राज्यों के कानून का अध्ययन करने के बाद धामी सरकार ने बनाया दंगाइयों के विरुद्ध देश का सबसे कड़ा कानून उत्तराखण्ड का सख़्त धर्मांतरण...

प्रदेश के 46 महाविद्यालयों में प्रयोगशालाओं को मिलेंगे नये उपकरण

पांच करोड़ की धनराशि स्वीकृत महाविद्यालयों को नैक की मान्यता लेने में रहेगी सहूलियत देहरादून। प्रदेश के 46 राजकीय महाविद्यालयों में संचालित विभिन्न विषयों की प्रयोगशालाएं...

विपक्ष के गढ़ में क्या खिलेगा कमल?

हरिशंकर व्यास यह भी अहम सवाल है कि क्या भाजपा किसी ऐसे राज्य में चुनाव जीत पाएगी, जहां इससे पहले वह कभी नहीं जीती है?...