Monday, March 4, 2024
Home ब्लॉग पति की लंबी उम्र के लिए करवाचौथ पर किस तरह से करें...

पति की लंबी उम्र के लिए करवाचौथ पर किस तरह से करें पूजा, व क्या है पूजा का शुभ मुहुर्त, जानिए यहां-

करवाचौथ का व्रत हर साल सुहागिनें अपने पति की लंबी उम्र के लिए रखती है, वहीं इस साल करवाचौथ का व्रत 13 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इसके लिए बाजारों में महिलाओं की भीड़ उमड़ रखी है। कहीं पर महिलाओं द्वारा करवाचौथ पूजन की सामग्री खरीदी जा रही है, तो कहीं पर सुहागिनें अपने हाथ- पैर पर मेंहदी लगा रही है। इसके साथ ही अपने साज- श्रृंगार के लिए भी महिलाएं खरीदारी कर रही है। कोरोनाकाल के बाद इस साल दो वर्ष बाद बाजारों में करवाचौथ की रौनक देखी जा रही है, जगह- जगह पर महिलाएं खरीदारी कर रही है, साथ ही बाजार भी करवाचौथ के लिए खूब सज रखे है। महिलाओं का सबसे प्रिय व्रत करवाचौथ का है, वहीं देशभर में बड़े पैमाने पर करवाचौथ का व्रत किया जाता है, इसके साथ ही अलग- अलग जगहों पर इसे अपने- अपने रीति- रिवाजों के अनुसार ही मनाया जाता है। सबका व्रत करने के तरीके से लेकर पूजा करने का अलग तरीका होता है, अपनी- अपनी मान्यताओं के अनुसार ही लोग व्रत करते है। कई जगहों पर महिलाएं एक साथ इकट्ठा होकर पूजा करती है, तो कहीं पर महिलाएं अपने- अपने घरों में ही पूजा करती है। करवाचौथ के व्रत का सबसे ज्यादा महत्व माना जाता है, इस दिन पर सुहागिनें अटल सुहाग, पति की दीर्घ आयु, स्वस्थ जीवन और मंगलकामना के लिए व्रत रखती है। सुबह से भूखा, प्यासा रहकर पति की मंगल कामना के लिए सुहागिनें व्रत रखती है, और रात को चांद का दीदार करने के बाद ही व्रत खोलती है। चांद के आने से पहले सुहागिनें व्रत नहीं खोलती, जब चांद आ जाता है, तब सुहागिनें चांद की पूजा करने के बाद अपने पति के पैर छूकर आशीर्वाद लेकर पति के हाथों पानी पीकर ही व्रत खोलती है।

इस प्रकार से करें करवाचौथ व्रत की पूजा

करवाचौथ के व्रत पर सुहागिनें सबसे पहले सारा जरुरी सामान एक जगह पर रख दें, जिससे बाद में सामान ढ़ूंढने में या फिर भूलने जैसी समस्या सामने नहीं आएगी। इसके बाद करवा में गेहूं और शक्कर का बूरा भर दें, साथ ही भरे हुए करवे पर इच्छा अनुसार दक्षिणा अर्थात पैसे रख दें। यदि किसी के पास गेहूं या फिर शक्कर का बूरा नहीं है, तो वह इसके बदले में करवे को चावल और चीनी से भी भर सकती है। पूजा वाले स्थान पर शिव- पार्वती, गणेश का चित्र रखकर धूप, दीप, रोली, चंदन को भी वहां पर रख दें, और करवाचौथ व्रत कथा की किताब को रखकर शाम के समय पूजा के शुभ मुहुर्त के अनुसार व्रत कथा को पढ़े। व्रत कथा को किसी कन्या से सुनें, यदि कोई कन्या न मिले तो खुद ही कथा को पढ़ लें। कथा को पढ़ते समय पूरा साज- श्रृंगार करें।

इसके बाद शाम के समय में जब चांद आ जाए, तो छननी से चांद को देखने के बाद फिर अपने पति को देखें। इसके बाद चंद्रमा को अर्घ देकर चंद्रमा की पूजा करें, और अपने पति की लंबी उम्र की कामना करें। बाद में पति का आशीर्वाद लेकर पति के हाथों से पानी पिएं, फिर मिठाई को अपने पति को खिलाएं, और बाद में पति के हाथों से खुद भी खाएं। यहां पर मिठाई की जगह आप कुछ भी मिष्ठान का प्रयोग कर सकते है। इसके बाद जो भी भोजन बनाया गया हो, उसे पहले थोड़ा- थोड़ा निकालकर चंद्रमा को चढाएं, और फिर अपने पति को परोसे, और इसके साथ ही खुद भी भोजन करें। करवाचौथ व्रत में यह बात ध्यान रखने योग्य है, कि जिस प्रकार की प्रक्रिया आप एक बार में करेंगे, ठीक उसी प्रकार से और बार भी व्रत करें। अर्थात जिस तरह से आप पहली बार में पूजा करेंगे, या जो भी पकवान पहली बार वाले व्रत में बनाएंगे, वहीं पकवान और ठीक उसी प्रकार की पूजा को अपने व्रत में करें। हालांकि यह अपने रिति- रिवाजों के अनुसार आप कर सकते है, हर एक जगह पर करवाचौथ का व्रत अपने अलग तरीके से मनाया जाता है।

क्या है पूजा करने का शुभ मुहुर्त जानिए-

रोहिणी नक्षत्र में चंद्रमा की पूजा करना शुभ फलदायी माना गया है। आपको बता दें कि वैदिक पंचाग के अनुसार करवाचौथ के दिन शाम में रोहिणी नक्षत्र 6 बजकर 41 मिनट पर आरंभ हो रहा है। इसलिए इस समय के बाद ही पूजा करना शुभ रहेगा।

जिन लोगों की कुंडली में चंद्र दोष है या चंद्रमा नीच राशि में विराजमान हैं, वो लोग भी इस नक्षत्र में चंद्रमा की विशेष पूजा कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES

राहुल क्या वायनाड से लड़ेंगे?

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के लिए लोकसभा सीट का चुनाव मुश्किल काम होता जा रहा है। वे पिछली बार दो सीटों से लड़े थे,...

केजरीवाल को अब समन पर जाना होगा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने उनको आठवां समन भेजा है और चार मार्च को...

कानून का भय ही नहीं

आखिर देश में कानून और सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का यह हाल क्यों हो गया है कि एक कंपनी उसकी तनिक परवाह नहीं करती?...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

पिता की दूसरी शादी से नाराज बेटे ने तेजधार हथियार से वार कर उतारा मौत के घाट 

हिसार। हरियाणा के हिसार के बालक गांव के रहने वाले 50 वर्षीय कृष्ण कुमार की उसके बेटे विक्की ने अपने साथी बिंटू के साथ...

लालू यादव के बयान के बाद BJP नेताओं का करारा जवाब, कहा- अबकी बार ‘मोदी का परिवार’…

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले पीएम मोदी को लेकर विपक्षी नेताओं की बयानबाजी तेज हो गई है। लेकिन बीजेपी के तमाम नेता...

उपद्रवियों से होगी सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की भरपाई

-क्लेम ट्रिब्यूनल करेगा नुकसान का आंकलन, राज्य सरकार ने कानून बनाने को प्रदान की मंजूरी देहरादून। उपद्रव फैलाने वालों पर शिकंजा कसने की दिशा में...

लोकसभा चुनाव आचार संहिता लगने से पूर्व धामी कैबिनेट की बैठक में हुए अहम फैसले

देखें, कैबिनेट के निर्णय सार्वजनिक सम्पत्ति के नुकसान की क्षतिपूर्ति के लिए क्लेम ट्रिब्यूनल के गठन पर लगी मुहर दशमेतर छात्रवृत्ति योजना में मिलने वाली छात्रवृत्ति...

गूगल ने हटाए गए सभी भारतीय एप को प्ले स्टोर पर किया बहाल

नई दिल्ली। गूगल ने भारी आलोचना के बाद प्ले स्टोर से हटाए गए सभी एप को वापस बहाल कर दिया है। सूत्रों ने पुष्टि...

अनुसूचित जाति के डेस्कॉलर एवं हॉस्टलर छात्रों के लिए नयी छात्रवृत्ति दरें तय

देखें, अनुसूचित जाति दशमोत्तर छात्रवृत्ति योजना के तहत नवीन छात्रवृत्ति की दर निर्धारित देहरादून। समाज कल्याण विभाग के अन्तर्गत भारत सरकार द्वारा संचालित अनुसूचित जाति...

हड्डियों में भर दे जान, आंखों के लिए वरदान से कम नहीं हरी मिर्च, जानें फायदे

स्पाइसी खाना हम चटकारे मार-मारकर खाते हैं. इन्हें स्वादिष्ट और तीखा बनाने का काम हरी मिर्च का होता है. हरी मिर्च भारत में बड़े...

एक बार फिर चारों ओर से बर्फ में ढकी औली और चकराता की वादियां 

चमोली। उत्तराखंड में मौसम ने फिर करवट बदली है। चमोली जनपद में लगातार तीसरे दिन भी मूसलाधार बारिश से ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर...

ईडी के सामने पेश होंगे अरविंद केजरीवाल, मांगी नई तारीख

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शराब घोटाला मामले में पूछताछ के लिए तैयार हो गए हैं। उन्होंने प्रवर्तन निदेशालय से 12 मार्च के बाद...

मुख्यमंत्री ने पंचायती राज विभाग के 350 कार्मिकों को प्रदान किये नियुक्ति-पत्र

ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों को बताया लोकतांत्रिक व्यवस्था की नींव युवाओं से किया गांवों के विकास के लिये समर्पित भाव से कार्य करने का आह्वान विकसित...