बिज़नेस

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को करेगी आम बजट पेश , देखे क्या क्या होंगे फायदे

[ad_1]

दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को आम बजट पेश करने वाली हैं। कोरोना स्थिति के बीच यह आम बजट काफी अहम होने वाला है। आम लोगों को इससे काफी उम्मीदें हैं। ऐसे में सरकार का यह बजट आम आदमी के लिए क्या-क्या राहत ला सकता है, इसे लेकर कई तरह की बातें चल रही हैं।  जिसको लेकर सेबी रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट एडवाइजर जितेंद्र सोलंकी ने बताया की कैसे सरकार इस बजट में आम आदमी को कैसे राहत दे सकती है।

सेबी रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट एडवाइजर जितेंद्र सोलंकी ने बताया कि इनकम टैक्स में जो बेसिक छूट 25 लाख रुपये की है, वह काफी लंबे समय से समान है. उसे बढ़ाया नहीं गया है। इसे लेकर उम्मीगद है कि इसे बढ़ाकर कम से कम 3 लाख रुपये तक किया जाए। हालांकि, देखा गया था कि 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए ढाई लाख रुपए की इनकम टैक्स की छूट को बढ़ाया गया था लेकिन 60 साल से कम उम्र वाले लोगों को यह छूट नहीं दी गई थी।

जितेंद्र सोलंकी ने कहा कि इनकम टैक्स में छूट बढ़ाने से जो सबसे बड़ा फायदा होता है वह है कि आम आदमी की जेब में ज्यादा पैसा जाता है, जिसे हम डिस्पोजेबल इनकम बोलते हैं। जब इनकम ज्यादा होती है तो वह आदमी खर्च करता है या निवेश करता है तो एक तरफ से देखें तो इकॉनमी को चलाने में ऐसे ही राहत मिलती है। डिस्पोजेबल इनकम बढ़ाने से इकॉनमी को फायदा होगा।

सोलंकी ने कहा कि महंगाई एक बड़ा फैक्टर है जो आम आदमी की चेब पर इंपैक्ट कर रहा है क्योंकि महंगाई के साथ ना तो इतनी इनकम बढ़ती है और ना ही जो सुविधाएं हैं, वह बढ़ती है। यही कारण है कि बजट से बजट आम आदमी एक्सपेक्टेशन करता है कि उसके हाथ में इनकम ज्यादा आए, जिससे वह महंगाई को मात दे सके। जब महंगाई बढ़ती है तो इंटरेस्ट रेट बढ़ते हैं, एक आम आदमी के खर्चे बढ़ने लगते हैं. ऐसे में इनकम के साथ जो मिसमैच होता है, इसकी वजह से ज्यादा नेगेटिव इंपैक्ट पड़ता है।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk