Friday, February 23, 2024
Home राष्ट्रीय महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच सीबीआई ने संभाली, पांच सदस्यीय...

महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच सीबीआई ने संभाली, पांच सदस्यीय टीम प्रयागराज पहुंची

[ad_1]

महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच सीबीआई ने संभाली, पांच सदस्यीय टीम प्रयागराज पहुंची

प्रयागराज। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के प्रमुख महंत नरेंद्र गिरि की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत के मामले में प्राथमिकी दर्ज की है। जांच की प्रक्रिया शुरू करने के लिए सीबीआई की पांच सदस्यीय टीम प्रयागराज पहुंची। प्राथमिकी तब दर्ज की गई थी जब उत्तर प्रदेश सरकार ने नरेंद्र गिरि की मौत की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। 72 वर्षीय महंत सोमवार को बाघंबरी मठ स्थित अपने कमरे में मृत पाए गए। प्रारंभिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि गिरि की मौत फांसी के कारण दम घुटने से हुई है। उत्तर प्रदेश पुलिस की एक जांच के अनुसार, महंत को आखिरी बार सोमवार को दोपहर के भोजन के बाद अपने कमरे में प्रवेश करते देखा गया था।

शाम को उनके शिष्यों ने दरवाजा खटखटाया तो कोई जवाब नहीं आया। जब उनके शिष्यों ने दरवाजा तोड़ा और कमरे में प्रवेश किया, तो उन्होंने नरेंद्र गिरि को छत से लटका पाया। जिस कमरे में महंत नरेंद्र गिरि ने अपनी वसीयत लिखी थी, उस कमरे से एक कथित हस्तलिखित सुसाइड लेटर भी बरामद किया गया था और कई लोगों के नाम उसमें लिखे हुए थे। उनकी मृत्यु के बाद एक बड़ा विवाद तब खड़ा हो गया जब कई संतों ने कथित सुसाइड नोट को फर्जी करार दिया और महंत की मौत को हत्या करार दिया। महंत नरेंद्र गिरि को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में तीन लोगों आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी को यूपी पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। स्वर्गीय महंत द्वारा छोड़े गए कथित सुसाइड नोट में आनंद गिरि, बड़े हनुमानजी मंदिर के मुख्य पुजारी आद्य तिवारी और तिवारी के बेटे संदीप तीनों का उल्लेख किया गया था। अपने आखिरी नोट में, मृतक ने तीनों को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के लिए जिम्मेदार ठहराया था। साधु की मौत के तुरंत बाद ली गई एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है।

वीडियो क्लिप उनके निधन की परिस्थितियों को और उलझा देती है। दिलचस्प बात यह है कि जब पुलिस अधिकारी कमरे में प्रवेश करते हैं तो पंखा पूरी गति से चलता हुआ दिखाई देता है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को आश्रम के लोगों से पूछते हुए सुना जाता है कि किसने पंखा चालू किया – वही पंखा जिस पर महंत ने खुद को लटकाया था। रस्सी काटकर महंत के शव को नीचे लाने वाले सर्वेश ने कहा, नहीं पता किसने चलाया, यह मुझे नहीं पता। शायद यह गलती से चालू हो गया। महंत नरेंद्र गिरि की सुरक्षा में तैनात एक दर्जन पुलिस कर्मी भी जांच के घेरे में हैं। महंत को वाई-श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी, लेकिन जिस समय उसने कथित तौर पर अपना जीवन समाप्त किया, उस समय कोई भी पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था। पुलिस को सूचना देने से पहले ही जब रस्सी काटी गई और संत के शव को नीचे उतारा गया तो सुरक्षाकर्मी भी मौजूद नहीं थे। इन कर्मियों के खिलाफ उत्तर प्रदेश पुलिस के आला अधिकारियों ने विभागीय जांच भी शुरू कर दी है।

महंत गिरि को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किए गए आनंद गिरि पहले ही आरोप लगा चुके हैं कि संत की मौत के लिए अजय सिंह और अभिषेक मिश्रा सहित उनके सुरक्षाकर्मी जिम्मेदार हैं। पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने पुष्टि की कि 9-10 पुलिस कर्मी, जो नरेंद्र गिरि की सुरक्षा का हिस्सा थे, उनसे पूछताछ हो रही है।



[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

किसानों ने की दिल्ली कूच की कोशिश, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले

नई दिल्ली। किसानों ने घोषणा की थी कि वे बुधवार 21 फरवरी को दिल्ली की ओर मार्च करेंगे। फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य...

भूस्खलन से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद, हाईवे को खोलने का काम जारी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में मौसम के मिजाज तीखे रहे। गुलमर्ग व माता वैष्णो देवी के त्रिकुटा पर्वत समेत सभी ऊपरी क्षेत्रों में बर्फबारी और जम्मू...

आज फिर ईडी को सीएम केजरीवाल ने किया नजरअंदाज, कहा- गैरकानूनी है समन

नई दिल्ली। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल आज यानी 19 फरवरी को भी ईडी (ED) के सामने पेश नहीं होंगे। केजरीवाल ने कहा कि...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

महाराज ने दिये महाभारत ट्रेल को विकसित करने के निर्देश

योग महोत्सव का आयोजन 15 से 21 मार्च तक महासू देवता के मास्टर प्लान, कण्वाश्रम एवं योग महोत्सव 2024 की तैयारियों की समीक्षा देहरादून। योग महोत्सव...

सीमान्त मुनस्यारी पिथौरागढ़ व चम्पावत के लिए उड़ान भरेंगे हेलीकॉप्टर

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने हल्द्वानी से पहाड़ी इलाकों के लिए शुरू की हेली सेवा देहरादून।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को मुख्यमंत्री आवास,...

रोज एप्पल जूस पिएंगे तो क्या होगा, सेब का जूस पीते वक्त बरतें ये सावधानियां

नाश्ते में सेब खाने के बजाय इसका जूस पी सकते हैं।  जूस शरीर के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है. इसे पीने से चेहरे...

चारधाम यात्रा की तैयारियों में जुटा स्वास्थ्य महकमा

बदरीनाथ-केदारनाथ में मिलेगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उत्तराखण्ड के कई अस्पताल होंगे उच्चीकृत देहरादून। चारधाम यात्रा के दौरान इस बार तीर्थयात्रियों को बदरीनाथ-केदारनाथ के अस्पतालों में बेहतर...

उत्तराखंड की बेटी ने राष्ट्रीय साहित्यिक मंच पर किया नाम रोशन

बागेश्वर की प्रभा ललित सिंह को बेस्ट फिक्शन हिन्दी एक्सीलेनट नॉवल ऑफ द ईयर-2024 सम्मान देहरादून। उत्तराखंड की बेटी ने राष्ट्रीय साहित्यिक मंच पर उत्तराखंड...

विवाह बंधन में बंधे रकुल प्रीत सिंह और जैकी भगनानी, सिख रीति रिवाजों से हुआ आनंद कारज

पणजी। लंबे समय से एक-दूसरे को डेट कर रहे रकुलप्रीत सिंह और जैकी भगनानी विवाह बंधन में बंध गए है। दोनों का सिख रीति...

बद्रीनाथ धाम ने ओढ़ी बर्फ की सफेद चादर, रुक-रुककर बर्फबारी का दौर जारी

चमोली। उत्तराखंड के ऊंचाई वाले इलाकों में लगातार मौसम बिगड़ा हुआ है। बदरीनाथ धाम में चार दिनों से लगातार बर्फबारी हो रही है। जिससे...

ब्लॉक प्रमुख ने कांग्रेस छोड़ी, भाजपा का दामन थामा

ब्लॉक प्रमुख रजनी रावत का प्रदेश अध्यक्ष व रास सांसद महेंद्र भट्ट ने किया स्वागत देहरादून। पौड़ी के पाबो ब्लॉक प्रमुख श्रीमती रजनी रावत ने...

सभी बाधाएं दूर, शीघ्र शुरू होगा जमरानी बांध का निर्माण- महाराज

जमरानी बांध परियोजना को सैद्धांतिक सहमति देने पर महाराज ने जताया आभार देहरादून। जमरानी बांध के लिए पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय भारत सरकार...

हॉकी, स्केटिंग रिंग एवं चिल्डर्न पार्क के निर्माण के साथ खेल अवस्थापना सुविधा हेतु किए जा रहे कार्य – मुख्य कार्यकारी अधिकारी 

जिलाधिकारी/मुख्य कार्यकारी अधिकारी सोनिका ने शहर में संचालित हो रहे स्मार्ट सिटी परियोजना लि0 के कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया जिलाधिकारी ने सहारनपुर रोड से...