Wednesday, February 28, 2024
Home उत्तराखंड कोविड महामारी की चुनौतियों को पार कर एक बार फिर उत्तराखंड में...

कोविड महामारी की चुनौतियों को पार कर एक बार फिर उत्तराखंड में पर्यटन ने पकड़ी रफ्तार, चारधाम यात्रा में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

[ad_1]

देहरादून।  कोविड महामारी की चुनौतियों को पार कर उत्तराखंड में पर्यटन ने रफ्तार पकड़ी है। कोरोना के कारण दो साल से प्रभावित चारधाम यात्रा इस बार पूरे जोरों पर चली तो कांवड़ यात्रा में भी जमकर श्रद्धालु आए। पर्यटन उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। लॉकडाउन के कारण बीते दो साल तक चारधाम यात्रा बाधित रही। इस साल कोरोना संक्रमण की स्थित सामान्य होने के बाद चारधाम यात्रा बिना किसी बाधा के शुरू हुई।

केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के दर्शन के लिए यात्रा में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। चारधाम यात्रा के इतिहास में पहली बार पांच महीने में तीर्थयात्रियों की संख्या ने रिकॉर्ड बनाया है। अब तक 38 लाख से अधिक तीर्थ यात्री चारधामों में दर्शन कर चुके हैं। उधर, इस साल सावन में हुई कांवड़ यात्रा में तीन करोड़ 80 लाख श्रद्धालु उत्तराखंड आए।

साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने पर जोर

धार्मिक पर्यटन के साथ साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कई योजनाएं बनाई है। नए ट्रैकिंग रूट चिन्हित करने के साथ नए स्थलों को पर्यटक सुविधाओं के लिए विकसित किया जा रहा है। प्रदेश के सीमांत गांवों में पर्यटन के लिए विकसित करने की योजना है। टिहरी झील को अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थल बनाने के लिए एशियन डेवलपमेंट बैंक की वित्तीय सहायता से केंद्र सरकार ने 1800 करोड़ योजना को मंजूरी है। इसकी डीपीआर तैयार की जा रही है। 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन योजना के तहत प्रत्येक जिले में एक थीम आधारित पर्यटक स्थल विकसित किया जा रहा है। इसके लिए सरकार ने अब तक 32.15 करोड़ की राशि जारी की है।

रोपवे परियोजनाओं से लगेंगे पंख

केदारनाथ धाम, हेमकुंड साहिब समेत ऋषिकेश के नीलकंठ, स्कीइंग के विश्व प्रसिद्ध औली से गारसौं, रानीबाग से नैनीताल, खलियाटॉप से मुनस्यारी, पंचकोटी से टिहरी तक रोपवे के लिए डीपीआर बनाई जा रही है। प्रदेश में इन योजनाओं के धरातल पर उतरने के बाद आने वाले समय में पर्यटन को पंख लगेंगे। इसके अलावा कुमाऊं मंडल के ऐतिहासिक मंदिरों को मानसखंड सर्किट से जोड़ा जाएगा।

प्रदेश में धार्मिक पर्यटन के साथ ही साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने पर सरकार काम कर रही है। हमारा प्रयास है कि शीतकालीन पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाए। इससे पूरे साल भर पर्यटक उत्तराखंड आएंगे। ईको टूरिज्म, कैरावान, ट्रैकिंग एवं हाइकिंग समेत अन्य साहसिक गतिविधियों के लिए नीति बनाई जा रही है। ऐतिहासिक मंदिरों को अलग-अलग सर्किटों से जोड़ा जा रहा है।



[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

उत्तराखण्ड पीसीएस मुख्य परीक्षा का रिजल्ट घोषित

देहरादून। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की पीसीएस मुख्य परीक्षा का रिजल्ट लंबे इंतजार के बाद जारी हो गया। आयोग ने यह परीक्षा पिछले साल...

लोकसभा चुनाव 2024- पांच सीटों पर 55 दावेदार

भाजपा चुनाव संचालन समिति की बैठक में दावेदारों का पैनल तय देहरादून। भाजपा प्रदेश चुनाव संचालन समिति ने सभी 5 लोकसभा सीटों के लिए 55...

बजट विकास के दृष्टिकोण की दूरगामी सोच को उजागर करने वाला है- महाराज

देहरादून। प्रदेश के पर्यटन, धर्मस्व, संस्कृति, लोक निर्माण, सिंचाई, पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण एवं जलागम, मंत्री सतपाल महाराज ने धामी सरकार के 2024-25 के लिए...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

उत्तराखण्ड पीसीएस मुख्य परीक्षा का रिजल्ट घोषित

देहरादून। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की पीसीएस मुख्य परीक्षा का रिजल्ट लंबे इंतजार के बाद जारी हो गया। आयोग ने यह परीक्षा पिछले साल...

बजट में आंकड़ों की बाजीगरी को सलाम – कांग्रेस

बजट में बजट और दिशा का अभाव है - यशपाल आर्य देहरादून।  नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बजट एक असफल सरकार का बजट है। जिसने...

लोकसभा चुनाव 2024- पांच सीटों पर 55 दावेदार

भाजपा चुनाव संचालन समिति की बैठक में दावेदारों का पैनल तय देहरादून। भाजपा प्रदेश चुनाव संचालन समिति ने सभी 5 लोकसभा सीटों के लिए 55...

दिवंगत पंजाबी गायक मूसेवाला के प्रशंसकों के लिए खुशखबरी- घर में जल्द गूंजने वाली है किलकारी 

चंडीगढ़। दिवंगत पंजाबी गायक शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला के प्रशंसकों के लिए खुशखबरी है। मूसेवाला की मां चरण कौर गर्भवती हैं और...

बजट विकास के दृष्टिकोण की दूरगामी सोच को उजागर करने वाला है- महाराज

देहरादून। प्रदेश के पर्यटन, धर्मस्व, संस्कृति, लोक निर्माण, सिंचाई, पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण एवं जलागम, मंत्री सतपाल महाराज ने धामी सरकार के 2024-25 के लिए...

हताश युवा क्या करें?

भारत सरकार ने मान लिया है कि यूक्रेन के खिलाफ युद्ध के लिए रूसी सेना ने कई भारतीय युवाओं की भर्ती की है। इस...

श्री सीमेंट को आयकर विभाग से 261.88 करोड़ रुपये की मांग के खिलाफ मूल्यांकन आदेश मिला

नई दिल्ली।  श्री सीमेंट को आयकर विभाग से 261.88 करोड़ रुपये की मांग के खिलाफ मूल्यांकन आदेश मिला है। कंपनी को निर्धारण वर्ष 2021-22...

एसजीआरआरयू क्रिकेट में फार्मेसी ने एग्रीकल्चरल साइंसेज़ को किया पराजित

एसजीआरआरयू खेलोत्सव-2024 क्रिकेट, फुटबाॅल, वालीबाॅल, बास्केटबाॅल, शतरंज, कैरम, कबड्डी एवम् बैडमिंटन प्रतियोगिताओं के नाम रहा दूसरा दिन देहरादून। श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय (एसजीआरआरयू)...

मंत्री महाराज के उत्तर से संतुष्ट विधायक महेश जीना ने किया आभार व्यक्त

सदन में महाराज के धाराप्रवाह जवाबों से विपक्ष की रणनीति फेल देहरादून। ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों के रिक्त 398 पदों में से उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा...

आज से ही छोडकर देखिए आलू, महीनेभर में समझ आ जाएगा फर्क, होंगे जबरदस्त फायदे

आलू सब्जियों का राजा कहा जाता है। हमारे किचन में आलू की खास जगह है। आलू से कई चीजें बनाई जाती है. बहुत से...