Tuesday, February 27, 2024
Home राष्ट्रीय 22 वर्षों बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव में नूरा-कुश्ती की उम्मीद,...

22 वर्षों बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव में नूरा-कुश्ती की उम्मीद, शशि थरूर के भी मैदान में उतरने की अटकलें

[ad_1]

नई दिल्ली। करीब 22 वर्षों के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव के रोचक होने की उम्मीद है। इस पद के लिए एक से अधिक प्रत्याशियों के मैदान में उतरने की संभावनाएं जताई जा रही है। पार्टी की ओर से जहां राहुल गांधी को मनाने की कोशिश हो रही है और उनके न मानने के बाद मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक गहलोत, कमलनाथ जैसे चेहरों को सामने लाने की चर्चा है। वहीं, पार्टी नेतृत्व से कुछ मुद्दों पर अलग राह चलने वाले शशि थरूर ने इशारों-इशारों में जो संकेत दिया है उसका अर्थ यह निकाला जा रहा है वह मैदान में उतर सकते हैं। उन्होंने कहा है कि अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को मैदान में उतरना चाहिए।

इससे पहले भी दो बार हुए हैं प्रत्याशियों के बीच चुनाव
पिछले तीन दशक में कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए वर्ष 1997 और 2000 में ही वोटिंग हुई थी। 1997 में सीताराम केसरी, शरद पवार, राजेश पायलट मैदान में थे। केसरी ने बाजी मारी थी। वर्ष 2000 में सोनिया गांधी को जीतेंद्र प्रसाद ने चुनौती दी थी और हार गए थे। माना तो यही जा रहा है कि राहुल खुद या फिर गांधी परिवार से कोई दूसरा मैदान में उतरा तो प्रतिस्पर्धा को लेकर संशय हो सकता है। लेकिन किसी दूसरे को उतारा गया तो कुछ और लोग भी ताल ठोकेंगे।

अटकलों में पृथ्वीराज चव्हाण का नाम भी शामिल
शशि थरूर कांग्रेस पार्टी के उस गुट के भी सदस्य है, जो पार्टी के काम-काज के खिलाफ लगातार अपनी नाखुशी जता रहा है। इस गुट के एक सदस्य गुलाम नबी आजाद भी थे। जिन्होंने पिछले दिनों ही कांग्रेस पार्टी को छोड़ने का ऐलान किया है। साथ ही अपनी अलग पार्टी बनाने का ऐलान किया है। अटकलों में पृथ्वीराज चव्हाण का नाम भी शामिल है। कांग्रेस की अंदरूनी खामियों और गुटबाजी पर सीधा हमला कर रहे पार्टी के पूर्व नेता गुलाम नबी आजाद से मंगलवार को भूपेंद्र सिंह हुड्डा, आनंद शर्मा और पृथ्वीराज चव्हाण ने लंबी चर्चा की। बताया जा रहा है कि आजाद ने इन तीनों नेताओं को विस्तार से बताया कि पार्टी की ओर से जहां यह दिखाया जा रहा था कि जम्मू-कश्मीर में उन्हें अहमियत दी गई वहीं सही मायने में अपमानित किया जा रहा था। किसी भी विमर्श में उन्हें शामिल नहीं किया जा रहा था और ऐसे लोगों को प्रमुखता दी जा रही थी जो पार्टी से अंदरूनी तौर पर नहीं जुड़े रहे हैं। बताया जाता है कि दूसरे नेताओं ने भी कांग्रेस के भविष्य को लेकर चिंता जताई और अध्यक्ष पद के लिए होने वाले चुनाव पर भी चर्चा हुई।



[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

ज्ञानवापी मामले में मुस्लिम पक्ष को झटका, पूजा रहेगी जारी, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका

वाराणसी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने हिंदू पक्ष को ज्ञानवापी परिसर के ‘व्यास जी के तहखाने’ में पूजा करने की अनुमति देने वाले आदेश को चुनौती...

1 जुलाई से लागू होंगे तीन नए क्रिमिनल लॉ, केन्द्र सरकार ने जारी किया नोटिफिकेशन

नई दिल्ली। तीन नए आपराधिक कानून एक जुलाई 2024 से प्रभावी हो जाएंगे। इसे लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से शनिवार को अधिसूचना...

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा रद्द, जानें अब कब होगा एग्जाम

लखनऊ। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने छात्रों के हितों में बड़ा फैसला लिया है। 17 और 18 फरवरी को यूपी पुलिस में कांस्टेबल...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

भिक्षावृत्ति के खिलाफ आपरेशन मुक्ति अभियान एक मार्च से होगा शुरू

भिक्षावृति में लगे बच्चों को शिक्षा मुहैया कराई जाएगी भिक्षावृत्ति की सूचना डायल 112 पर दें देहरादून। बच्चों से करायी जा रही भिक्षावृत्ति, बच्चों के साथ...

फिल्म योद्धा का गाना जिंदगी तेरे नाम हुआ रिलीज, सिद्धार्थ-राशि की केमिस्ट्री ने लूटी महफिल

करण जौहर की एक्शन थ्रिलर योद्धा सिनेमाघरों में दस्तक देने वाली है। फिल्म के टीजर में सिद्धार्थ मल्होत्रा का एक्शन तो आपने देखा होगा,...

किमाड़ी गुर्जर बस्ती में पीड़ित परिवारजनों से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाते कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी

देहरादून। मसूरी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत लोगों को निवाला बनाने वाल तथा घायल करने वाले गुलदार को कृषि मंत्री गणेश जोशी ने मसूरी विधानसभा...

कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों में भाजपा की सेंधमारी जारी

राजनीति- दो पूर्व ज़िला पंचायत अध्यक्ष व ओबीसी आयोग के पूर्व अध्यक्ष भाजपा में शामिल लोकसभा चुनाव की बेला में भाजपा के कुनबे में हो...

देश के सबसे सख्त नकल विरोधी कानून के बाद अब दंगाइयों के खिलाफ कठोर कानून लाएंगे सीएम धामी

विभिन्न राज्यों के कानून का अध्ययन करने के बाद धामी सरकार ने बनाया दंगाइयों के विरुद्ध देश का सबसे कड़ा कानून उत्तराखण्ड का सख़्त धर्मांतरण...

प्रदेश के 46 महाविद्यालयों में प्रयोगशालाओं को मिलेंगे नये उपकरण

पांच करोड़ की धनराशि स्वीकृत महाविद्यालयों को नैक की मान्यता लेने में रहेगी सहूलियत देहरादून। प्रदेश के 46 राजकीय महाविद्यालयों में संचालित विभिन्न विषयों की प्रयोगशालाएं...

विपक्ष के गढ़ में क्या खिलेगा कमल?

हरिशंकर व्यास यह भी अहम सवाल है कि क्या भाजपा किसी ऐसे राज्य में चुनाव जीत पाएगी, जहां इससे पहले वह कभी नहीं जीती है?...

उर्जा कप 2024- यूपी इरिगेशन बनी चैम्पियन

देहरादून। आर्यन क्षेत्री क्रिकेट ग्राउण्ड चल रहे पंचम ऊर्जा कप मे आज फाइनल मुकाबला हरिद्वार पुलिस व यूपी इरिगेशन के बीच हुआ। टोस जीतकर...

वन्य जीवों के बढ़ रहे हमलों के बाद वन अधिकारियों के विदेश दौरे पर लगी रोक

मानव-वन्य जीव संघर्ष मामले पर सीएम धामी ने अधिकारियों को लगाई फटकार देहरादून। प्रदेश में गुलदार समेत अन्य जंगली जानवरों के बढ़ रहे हमलों के बीच...

कांग्रेस ने बजट सत्र गैरसैंण में आहूत नहीं होने पर किया उपवास

गांधी प्रतिमा के सामने पूर्व सीएम हरीश रावत व कांग्रेसियों ने रखा मौन उपवास गैरसैंण में बजट सत्र आयोजित न कर भाजपा ने शहीदों व...