Monday, March 4, 2024
Home बिज़नेस मेक इन इंडिया के तहत फार्मा सेक्टर की बड़ी छलांग, भारत में...

मेक इन इंडिया के तहत फार्मा सेक्टर की बड़ी छलांग, भारत में पहली बार एफोर्डेबल कीमत पर न्यू ड्रग डिलिवरी सिस्टम डुअल चैंबर बैग लांच

[ad_1]

नई दिल्ली।  मेक इन इंडिया मिशन की बदौलत भारत क्रिटिकल केयर के क्षेत्र में टेक्नोलोजी के मामले में आयात पर अपनी निर्भरता को तेजी से कम कर रहा है और आत्मनिर्भर भारत के इस मुहिम के समर्थन में इस सेगमेंट में अग्रणी कंपनियां स्वदेशी तकनीक के साथ आगे आ रही हैं। इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ते हुए अपने इनोवेटिव और उच्च गुणवत्ता वाले फार्मास्यूटिकल और हर्बल उत्पादों और साथ ही एपीआई की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए प्रसिद्ध फार्मास्युटिकल कंपनी, गुफिक बायोसाइंसेज लिमिटेड ने भारत में पहली बार एफोर्डेबल कीमत पर न्यू ड्रग डिलिवरी सिस्टम: डुअल चैंबर बैग लांच किया है। साथ ही कंपनी ने भारत में 3000 करोड़ रुपये के लियोफिलाइज्ड एंटीबायोटिक्स एंटीफंगल बाजार के एक बड़े हिस्से को हासिल करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

यह लांच इवेंट श्री प्रणव चोकसी, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर, गुफिक बायोसाइंसेज लिमिटेड के गरिमामयी उपस्थिति में आयोजित की गई। इस अवसर पर डॉ राजेश पांडे, क्लिनिकल डायरेक्टर ऑफ इंटेंशिव केयर, डॉ बीएल कपूर मेमोरियल, डॉ ध्रुव चौधरी, पूर्व आईएससीसीएम प्रेसिडेंट और डायरेक्टर, क्रिटिकल केयर, पीजीयू रोहतक, डॉ हर्ष सापरा, डायरेक्टर, न्यूरो क्रिटिकल केयर, मेदांता होस्पिटल गुडग़ांव, और डॉ रजत अग्रवाल, डायरेक्टर क्रिटिकल केयर, फोर्टिस एस्कॉर्ट होस्पिटल दिल्ली मौजूद रहे।
मेक इन इंडिया अभियान में योगदान करते हुए, गुफिक बायोसाइंसेज ने भारत में इस नई तकनीक का निर्माण अपने फ्रांसीसी सहयोगी के साथ मिलकर किया है। भारत में अब तक डुअल चैंबर बैग का बड़े पैमाने पर आयात किया जाता था और मरीजों के लिए इसकी कीमत बहुत अधिक होती थी। इसके विपरीत गुफिक बायोसाइंसेज ने न केवल एफोर्डेबल कीमत पर उच्च गुणवत्ता वाले डुअल चैंबर बैग लॉन्च किए हैं, बल्कि इन न्यू ड्रग डिलीवरी सिस्टम उत्पादों की शेल्फ-लाइफ भी लंबी है।

डॉ. देबेश दास, सीओओ, गुफिक बायोसाइंसेज लिमिटेड ने कहा, हम क्रिटिकल केयर सेगमेंट में आयातित उत्पादों पर देश की निर्भरता को कम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इसी विजन के साथ आगे बढ़ते हुए हमने भारत में वैश्विक मानकों के अनुरूप देश में ही निर्मित डुअल चैंबर बैग्स को पॉकेट-फ्रेंडली कीमत पर लॉन्च किया है। हमारे इस उत्पाद की मांग तेजी से बढ़ रही है और हम इस क्षेत्र में बाजार की प्रमुख हिस्सेदारी हासिल करने की ओर अग्रसर हैं।

गुफिक बायोसाइंसेज द्वारा लॉन्च किए गए ये डुअल चैंबर बैग पॉलीप्रोपाइलीन (डीईएचपी मुक्त) से बने 2-चैम्बर ढ्ढङ्क बैग हैं, जिसमें एक हटाने योग्य एल्यूमीनियम की पन्नी होती है, जो उन अस्थिर दवाओं के भंडारण की सुविधा प्रदान करता है, जिन्हें रोगी के उपर इस्तेमाल करने से ठीक पहले पुनर्गठन की आवश्यकता होती है। इसमें हटाने योग्य सील लियोफिलाइज्ड (या पाउडर) दवा और उसके डाइलुएंट को अलग करती है। इसके अलावा, यह उत्पाद अमेरिका और यूरोपीय संघ के फार्माकोपोएइआ का अनुपालन करता है और इसे सीजीएमपी के तहत आईएसओ  क्लीन रूम में निर्मित किया जाता है।

गुफिक बायोसाइंसेज के डुअल चैंबर बैग्स (डीसीबी) की विशेषताएं और लाभ
यह रक्तप्रवाह में संक्रमण के जोखिम को कम करता है और इस तरह रोगी की सुरक्षा सुनिश्चित करता है।
शीशियों के बजाय डीसीबी में दवा की स्थिरता बहुत अधिक होती है क्योंकि यह प्रकाश और नमी से पूर्ण सुरक्षा प्रदान करता है।
बैग की बंद प्रणाली यह सुनिश्चित करती है कि उत्पाद स्टराईल है और यह हैंडलिंग के दौरान संदूषण के जोखिम से भी बचाता है।
 इसमें नाइट्रोसामाइन्स का इस्तेमाल नहीं किया गया है- इस वजह से विभिन्न अंगों और ऊतकों में कैंसर का कोई खतरा नहीं है।
डीसीबी, टयूबिंग और ट्विस्ट-ऑफ पोर्ट डीईएचपी फ्री हैं और इस वजह से इससे कैंसर, बर्थ डिफेक्ट्स और अन्य रिप्रोडक्टिव नुकसान का कोई खतरा नहीं है।
 

यह ग्लू फ्री है जिससे दवा के ग्लू से दूषित होने का जोखिम नहीं है।
इसमें 2 अलग-अलग बैगों में इच्छित खुराक और डाइलुएंट पहले से ही भरी हुई होती है- जो सटीक खुराक, आसान हैंडलिंग, सील की अखंडता और उच्च स्थिरता प्रदान करती है।
यह व्यक्तिगत उपचार व्यवस्था प्रदान करती है- जो अस्पताल के संदूषण से बचाती है और उच्च स्थिरता और सुविधा प्रदान करती है- इस प्रकार यह उत्पाद की गुणवत्ता और रोगी अनुपालन में काफी सुधार करता है।
यह उच्च स्थिरता प्रदान करता है- यह लीचबिलिटी से बचाता है और साथ ही वायुजनित जीवाणु संदूषकों और सुई की स्टिक की चोटों से मुक्त है।



[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

गूगल ने हटाए गए सभी भारतीय एप को प्ले स्टोर पर किया बहाल

नई दिल्ली। गूगल ने भारी आलोचना के बाद प्ले स्टोर से हटाए गए सभी एप को वापस बहाल कर दिया है। सूत्रों ने पुष्टि...

श्री सीमेंट को आयकर विभाग से 261.88 करोड़ रुपये की मांग के खिलाफ मूल्यांकन आदेश मिला

नई दिल्ली।  श्री सीमेंट को आयकर विभाग से 261.88 करोड़ रुपये की मांग के खिलाफ मूल्यांकन आदेश मिला है। कंपनी को निर्धारण वर्ष 2021-22...

व्हाट्सएप पर बदल जाएगा चैटिंग का अंदाज, कंपनी ला रही कमाल का फीचर

सैन फ्रांसिस्को। मेटा के स्वामित्व वाला व्हाट्सएप अपने यूूजर्स को बेेहतर अनुभव प्रदान करने के लिए नए फीचर ‘फेवरेट कॉन्टैक्ट फिल्टर’ पर काम कर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

देहरादून से अयोध्या – अमृतसर और वाराणसी के लिए हवाई सेवा

6 मार्च को होगा तीनों सेवाओं का शुभारंभ वाराणसी के लिए वाया पंतनगर उड़ान भरेगा विमान मुख्यमंत्री धामी तीनों सेवाओं के लिए लंबे समय थे प्रयासरत देहरादून।...

पिता की दूसरी शादी से नाराज बेटे ने तेजधार हथियार से वार कर उतारा मौत के घाट 

हिसार। हरियाणा के हिसार के बालक गांव के रहने वाले 50 वर्षीय कृष्ण कुमार की उसके बेटे विक्की ने अपने साथी बिंटू के साथ...

लालू यादव के बयान के बाद BJP नेताओं का करारा जवाब, कहा- अबकी बार ‘मोदी का परिवार’…

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले पीएम मोदी को लेकर विपक्षी नेताओं की बयानबाजी तेज हो गई है। लेकिन बीजेपी के तमाम नेता...

उपद्रवियों से होगी सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की भरपाई

-क्लेम ट्रिब्यूनल करेगा नुकसान का आंकलन, राज्य सरकार ने कानून बनाने को प्रदान की मंजूरी देहरादून। उपद्रव फैलाने वालों पर शिकंजा कसने की दिशा में...

लोकसभा चुनाव आचार संहिता लगने से पूर्व धामी कैबिनेट की बैठक में हुए अहम फैसले

देखें, कैबिनेट के निर्णय सार्वजनिक सम्पत्ति के नुकसान की क्षतिपूर्ति के लिए क्लेम ट्रिब्यूनल के गठन पर लगी मुहर दशमेतर छात्रवृत्ति योजना में मिलने वाली छात्रवृत्ति...

गूगल ने हटाए गए सभी भारतीय एप को प्ले स्टोर पर किया बहाल

नई दिल्ली। गूगल ने भारी आलोचना के बाद प्ले स्टोर से हटाए गए सभी एप को वापस बहाल कर दिया है। सूत्रों ने पुष्टि...

अनुसूचित जाति के डेस्कॉलर एवं हॉस्टलर छात्रों के लिए नयी छात्रवृत्ति दरें तय

देखें, अनुसूचित जाति दशमोत्तर छात्रवृत्ति योजना के तहत नवीन छात्रवृत्ति की दर निर्धारित देहरादून। समाज कल्याण विभाग के अन्तर्गत भारत सरकार द्वारा संचालित अनुसूचित जाति...

हड्डियों में भर दे जान, आंखों के लिए वरदान से कम नहीं हरी मिर्च, जानें फायदे

स्पाइसी खाना हम चटकारे मार-मारकर खाते हैं. इन्हें स्वादिष्ट और तीखा बनाने का काम हरी मिर्च का होता है. हरी मिर्च भारत में बड़े...

एक बार फिर चारों ओर से बर्फ में ढकी औली और चकराता की वादियां 

चमोली। उत्तराखंड में मौसम ने फिर करवट बदली है। चमोली जनपद में लगातार तीसरे दिन भी मूसलाधार बारिश से ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर...

ईडी के सामने पेश होंगे अरविंद केजरीवाल, मांगी नई तारीख

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शराब घोटाला मामले में पूछताछ के लिए तैयार हो गए हैं। उन्होंने प्रवर्तन निदेशालय से 12 मार्च के बाद...