Friday, February 23, 2024
Home खेल दम है तो दिखेगा और हिंदुस्तान का वो दम बर्मिंघम में दिखा,...

दम है तो दिखेगा और हिंदुस्तान का वो दम बर्मिंघम में दिखा, सावन के महीने में महादेव का कमाल, कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत के लिए जीता सिल्वर

[ad_1]

नई दिल्ली। दम है तो दिखेगा और हिंदुस्तान का वो दम बर्मिंघम में दिखा है। कॉमनवेल्थ गेम्स में वजन उठाने के खेल में भारत के संकेत महादेव सरगर ने देश की झोली में पहला मेडल डाला है। उन्होंने अपनी बाजुएं खोलकर, पूरी जान झोंककर पुरुषों के 55 किलोग्राम भार वर्ग में सिल्वर मेडल जीतने लायक वजन उठाया है। 19 साल के संकेत के लिए बर्मिंघम में हिंदुस्तान की शान बढ़ाना इतना आसान नहीं था. इसके लिए उन्होंने काफी मेहनत की है. उन्होंने वजन उठाने से पहले दुश्मन बने खुद के वजन को मात दी है तब जाकर ये सफलता हाथ लगी है। कॉमनवेल्थ गेम्स में मेडल जीतने वाले 19 साल के संकेत महादेव सरगर कोल्हापुर के शिवाजी यूनिवर्सिटी के छात्र हैं। पिछले महीने जब वो नेशनल और खेलो इंडिया यूथ गेम्स में हिस्सा लेने भुवनेश्वर पहुंचे तो वजन बढ़े होने की वजह से उनका उन खेलों में भाग ले पाना मुश्किल लग रहा था। 55 किलोग्राम में उतरने वाले संकेत का वजन 1.7 किलो बढ़ा था।

वजन बना दुश्मन तो छोड़े रोटी-चावल
संकेत ने तब कहा था, “मैं जब भुवनेश्वर पहुंचा तो वजन 56.7 किलोग्राम बढ़ा था. इसके बाद मैंने तत्काल प्रभाव से कार्बाेहाइड्रेट वाली सारी चीजें जैसी रोटी, चावल खानी छोड़ दी। मैं बस उबली हुई सब्जियां और सलाद खाने लगा। यहां तक कि मैंने पानी पीना भी कम कर दिया था.” संकेत महादेव सरगर के उन प्रयासों का नतीजा है कि आज उनके दम से भारत का नाम रोशन है।

12 घंटों की कड़ी मेहनत का नतीजा मेडल
कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत की झोली में सिल्वर मेडल डालने वाले संकेत महादेव सरगर ने वेटलिफ्टिंग का खेल खेलना 13 साल की उम्र से शुरू कर दिया था। उनके मुताबिक मोहल्ले में शायद ही कोई बच्चा दूसरा खेल खेलता था। लेकिन वो 12 घंटों तक इस खेल में रमे रहते थे। इसी का अभ्यास करते थे. और, अब जो कमाल वो कर रहे हैं ये उनके उसी मेहनत का नतीजा है।

2024 ओलिंपिक्स पर निगाह
कॉमनवेल्थ गेम्स बर्मिंघम में भारत की चांदी कराने वाले वेटलिफ्टर संकेत महादेव का असली मकसद 2024 के पेरिस ओलिंपिक में कमाल करना है। वो वहां 61 केजी कैटेगरी में हिस्सा लेना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “मेरा फोकस 2024 ओलिंपिक्स पर है। उसके लिए मुझे 61 केजी में हिस्सा लेना होगा. ये शरीर के वजन में एक बड़ा उछाल है. जो भी वक्त बचा है उसमें मुझे कड़ी मेहनत करनी होगी.”

खेल 2022 में मलेशिया के अनिक मोहम्मद से सिर्फ एक किलो के अंतर से हारने के बाद रजत पदक प्राप्त किया। 21 वर्षीय संकेत ने 55 किग्रा भार वर्ग के स्नैच राउंड में 113 किग्रा और क्लीन एंड जर्क राउंड में 135 किग्रा सहित कुल 248 किलोग्राम भार उठाया, जबकि अनिक ने स्नैच में 107 और क्लीन एंड जर्क में 142 किग्रा के साथ कुल 249 किग्रा भार उठाया।

संकेत ने क्लीन एंड जर्क राउंड में पहले प्रयास में सफलतापूर्वक 135 किग्रा वजन उठाने के बाद दूसरे और तीसरे प्रयास में 139 किग्रा उठाना चाहा, लेकिन वह असफल रहे और उन्होंने रजत से संतोष किया। अपने दूसरे प्रयास में असफल होने के बाद अनिक ने अंतिम प्रयास में 142 किग्रा उठाकर स्वर्ण हासिल किया। श्रीलंका के दिलंका युडागे ने 225 किग्रा (105 स्नैच, 120 क्लीन एंड जर्क) के साथ कांस्य पदक प्राप्त किया।



[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

भारत ने तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड को 434 रन से हराया

नई दिल्ली।  भारत ने तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड को 434 रन से हरा दिया है। राजकोट में खेले गए इस मुकाबले में इंग्लैंड को...

इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी तीन टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम का ऐलान, जानें कौन हुआ बाहर

मुंबई। शनिवार, 10 फरवरी को बीसीसीआई ने इंग्लैंड के भारत दौरे पर खेले जाने वाले अंतिम तीन टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम का...

भारत ने इंग्लैंड को दूसरे टेस्ट मैच में 106 रन से हराया 

नयी दिल्ली। भारत ने इंग्लैंड को विशाखापत्तनम में खेले गए दूसरे टेस्ट में 106 रन से हरा दिया है। इसी के साथ टीम इंडिया...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

महाराज ने दिये महाभारत ट्रेल को विकसित करने के निर्देश

योग महोत्सव का आयोजन 15 से 21 मार्च तक महासू देवता के मास्टर प्लान, कण्वाश्रम एवं योग महोत्सव 2024 की तैयारियों की समीक्षा देहरादून। योग महोत्सव...

सीमान्त मुनस्यारी पिथौरागढ़ व चम्पावत के लिए उड़ान भरेंगे हेलीकॉप्टर

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने हल्द्वानी से पहाड़ी इलाकों के लिए शुरू की हेली सेवा देहरादून।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को मुख्यमंत्री आवास,...

रोज एप्पल जूस पिएंगे तो क्या होगा, सेब का जूस पीते वक्त बरतें ये सावधानियां

नाश्ते में सेब खाने के बजाय इसका जूस पी सकते हैं।  जूस शरीर के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है. इसे पीने से चेहरे...

चारधाम यात्रा की तैयारियों में जुटा स्वास्थ्य महकमा

बदरीनाथ-केदारनाथ में मिलेगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उत्तराखण्ड के कई अस्पताल होंगे उच्चीकृत देहरादून। चारधाम यात्रा के दौरान इस बार तीर्थयात्रियों को बदरीनाथ-केदारनाथ के अस्पतालों में बेहतर...

उत्तराखंड की बेटी ने राष्ट्रीय साहित्यिक मंच पर किया नाम रोशन

बागेश्वर की प्रभा ललित सिंह को बेस्ट फिक्शन हिन्दी एक्सीलेनट नॉवल ऑफ द ईयर-2024 सम्मान देहरादून। उत्तराखंड की बेटी ने राष्ट्रीय साहित्यिक मंच पर उत्तराखंड...

विवाह बंधन में बंधे रकुल प्रीत सिंह और जैकी भगनानी, सिख रीति रिवाजों से हुआ आनंद कारज

पणजी। लंबे समय से एक-दूसरे को डेट कर रहे रकुलप्रीत सिंह और जैकी भगनानी विवाह बंधन में बंध गए है। दोनों का सिख रीति...

बद्रीनाथ धाम ने ओढ़ी बर्फ की सफेद चादर, रुक-रुककर बर्फबारी का दौर जारी

चमोली। उत्तराखंड के ऊंचाई वाले इलाकों में लगातार मौसम बिगड़ा हुआ है। बदरीनाथ धाम में चार दिनों से लगातार बर्फबारी हो रही है। जिससे...

ब्लॉक प्रमुख ने कांग्रेस छोड़ी, भाजपा का दामन थामा

ब्लॉक प्रमुख रजनी रावत का प्रदेश अध्यक्ष व रास सांसद महेंद्र भट्ट ने किया स्वागत देहरादून। पौड़ी के पाबो ब्लॉक प्रमुख श्रीमती रजनी रावत ने...

सभी बाधाएं दूर, शीघ्र शुरू होगा जमरानी बांध का निर्माण- महाराज

जमरानी बांध परियोजना को सैद्धांतिक सहमति देने पर महाराज ने जताया आभार देहरादून। जमरानी बांध के लिए पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय भारत सरकार...

हॉकी, स्केटिंग रिंग एवं चिल्डर्न पार्क के निर्माण के साथ खेल अवस्थापना सुविधा हेतु किए जा रहे कार्य – मुख्य कार्यकारी अधिकारी 

जिलाधिकारी/मुख्य कार्यकारी अधिकारी सोनिका ने शहर में संचालित हो रहे स्मार्ट सिटी परियोजना लि0 के कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया जिलाधिकारी ने सहारनपुर रोड से...