Saturday, February 24, 2024
Home उत्तराखंड उत्तराखंड में सरकारी विभागों की ढिलाई से केंद्रीय योजनाओं का करोड़ों रुपये...

उत्तराखंड में सरकारी विभागों की ढिलाई से केंद्रीय योजनाओं का करोड़ों रुपये हर साल करना पड़ रहा सरेंडर

[ad_1]

देहरादून। आर्थिक चुनौतियों के बीच जब राज्य सरकार पर आय के संसाधन बढ़ाने का दबाव है, ऐसे में केंद्र पोषित योजनाओं में धनराशि का पूरा उपयोग न हो पाना प्रदेश सरकार के लिए बड़ी चिंता की वजह है। सरकारी विभागों की ढिलाई की वजह से केंद्रीय योजनाओं का करोड़ों रुपये हर साल सरेंडर करना पड़ रहा है। वित्त विभाग के आंकड़ों के मुताबिक पिछले तीन सालों में ही केंद्र पोषित योजनाओं में मंजूर हो चुकी धनराशि में 3800 करोड़ रुपये विभागीय लापरवाही की वजह से सरेंडर करने पड़े। जीएसटी मुआवजा बंद होने के बाद राज्य सरकार को सालाना पांच हजार करोड़ रुपये का नुकसान होना तय माना जा रहा है। ऐसे में राज्य के पास अपने संसाधनों से विकास कार्यों की निरंतरता को बनाए रखना सहज नहीं माना जा रहा है। इस वजह से केंद्र पोषित और वाह्य सहायतित योजनाओं पर राज्य सरकार की निर्भरता का दबाव और ज्यादा बढ़ गया है। वह केंद्र से ज्यादा से ज्यादा वित्तीय इमदाद हासिल करना चाहती है। लेकिन उसके लिए सबसे बड़ी दिक्कत केंद्रीय योजनाओं को क्रियान्वयन विभागों की सुस्त कार्यप्रणाली है।

वित्तीय वर्ष 2021-22 में राज्य सरकार ने केंद्र पोषित मद में 14302 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया था। इसके एवज में उसे 9686 करोड़ प्राप्त हुए। लेकिन विभाग इतनी धनराशि की स्वीकृति के बावजूद 7658 करोड़ की खर्च कर सके। वित्तीय वर्ष समाप्ति पर विभागों को करीब दो हजार करोड़ से अधिक की धनराशि समर्पित (सरेंडर) करनी पड़ी। यानी इस धनराशि का उस वित्तीय वर्ष में उपयोग नहीं हो पाया। पिछले कई वर्षों से यही ढर्रा चला आ रहा है, जिसे अब बदलने की कोशिशें शुरू हो गई हैं। मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु ने वित्तीय वर्ष शुरू होने से पहले ही सभी प्रशासनिक सचिवों को ताकीद किया था कि वे केंद्र पोषित योजनाओं के शत-प्रतिशत उपयोग के लिए रोडमैप बनाएं। वित्त विभाग की ओर से भी विभागों को लगातार दिशा-निर्देश जारी हो रहे हैं।

अपर मुख्य सचिव, वित्त आनंद बर्द्धन, ने कहा प्रदेश सरकार केंद्र पोषित योजनाओं और वाह्य सहायतित योजनाओं का भरपूर उपयोग करने पर जोर है। विभागों को इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी हो चुके हैं। उन्हें समय पर प्रस्ताव बनाने, उनका लगातार फॉलोअप करने और उपयोग में लाई गई धनराशि का समय पर यूसी दिया जाए ताकि शेष किस्त की धनराशि समय पर स्वीकृत हो सके।



[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

प्रखर राष्ट्रवादी संत थे जगद्गुरू स्वामी प्रकाशानंद- महाराज

संत शिरोमणि गुरु रविदास के जन्मोत्सव समारोह में भी शामिल हुए कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज हरिद्वार। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और जनपद के प्रभारी मंत्री...

…तो ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना की वजह से सूख रहे पहाड़ी जल स्रोत

संकट- ऋषिकेश से कुछ किमी दूर तिमली गांव के सभी जल स्रोत और कई तालाब सूखे एसडीसी फाउंडेशन ने जारी की 2024 की पहली उत्तराखंड...

राजकीय इंटर कॉलेज व बालिका इंटर कॉलेजों का होगा एकीकरण- डॉ. धन सिंह रावत

भारत सरकार के मानकों के अनुरूप होगी डायट की सेवा नियमावली अधिकारियों को निर्देश,स्कूलों में समय पर उपलब्ध करायें पाठ्य पुस्तकें देहरादून। सूबे की शिक्षा व्यवस्था...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

फिल्म शैतान का ट्रेलर रिलीज, आर माधवन की शैतानी चाल से परिवार को बचाते दिखे अजय देवगन

अभिनेता अजय देवगन पिछले कुछ समय से अपनी फिल्म शैतान को लेकर सुर्खियों में हैं। यह फिल्म इसलिए भी खास है, क्योंकि इसमें उनके...

प्रखर राष्ट्रवादी संत थे जगद्गुरू स्वामी प्रकाशानंद- महाराज

संत शिरोमणि गुरु रविदास के जन्मोत्सव समारोह में भी शामिल हुए कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज हरिद्वार। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और जनपद के प्रभारी मंत्री...

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा रद्द, जानें अब कब होगा एग्जाम

लखनऊ। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने छात्रों के हितों में बड़ा फैसला लिया है। 17 और 18 फरवरी को यूपी पुलिस में कांस्टेबल...

कारमांता शहर में एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, चार पुलिस अधिकारियों की मौत

बोगोटा। लैटिन अमेरिकी देश कोलंबिया के एंटिओक्विया प्रांत के कारमांता शहर में एक हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से चार पुलिस अधिकारियों की मौत...

कांग्रेस और आप ने किया गठबंधन का ऐलान, जानें कहां और कितने सीटो पर तय हुई बात

नई दिल्ली। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने आज यानी शनिवार को दिल्ली में संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीट शेयरिंग का ऐलान कर दिया...

…तो ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना की वजह से सूख रहे पहाड़ी जल स्रोत

संकट- ऋषिकेश से कुछ किमी दूर तिमली गांव के सभी जल स्रोत और कई तालाब सूखे एसडीसी फाउंडेशन ने जारी की 2024 की पहली उत्तराखंड...

राजकीय इंटर कॉलेज व बालिका इंटर कॉलेजों का होगा एकीकरण- डॉ. धन सिंह रावत

भारत सरकार के मानकों के अनुरूप होगी डायट की सेवा नियमावली अधिकारियों को निर्देश,स्कूलों में समय पर उपलब्ध करायें पाठ्य पुस्तकें देहरादून। सूबे की शिक्षा व्यवस्था...

बालों की ग्रोथ को करना है फास्ट, तो अपनाएं ये नेचुरल तरीके

अगर आप भी चाहते हैं कि आपके बाल लंबे और हेल्दी हों, तो केवल शैम्पू और सीरम काफी नहीं है. बालों की उचित देखभाल...

आतंक का पर्याय बने गुलदार को शिकारियों ने किया ढेर

दो दिन में चार लोगों को घायल कर चुका था गुलदार श्रीनगर। टिहरी जिले के कीर्तिनगर विकासखंड में आतंक मचाने वाले गुलदार को मार दिया...

गर्मी की आहट शुरू होने के बीच एक बार फिर करवट बदलेगा मौसम, इन राज्यों में अलर्ट जारी 

नई दिल्ली। देश के कई हिस्सों में मौसम लगातार बदल रहा है। सर्दियां खत्म होने को हैं और गर्मी की आहट शुरू हो चुकी...