Wednesday, February 28, 2024
Home उत्तराखंड उत्तराखंड में रिस्पांसिबल टूरिज्म की जरूरत, वॉव पॉलिसी डायलॉग के तीसरे संस्करण...

उत्तराखंड में रिस्पांसिबल टूरिज्म की जरूरत, वॉव पॉलिसी डायलॉग के तीसरे संस्करण में रिस्पांसिबल टूरिज्म पर हुआ मंथन

[ad_1]

देहरादून । सहस्त्रधारा रोड स्थित वॉव कैफे में वॉव पॉलिसी डायलॉग के तीसरे संस्करण का आयोजन किया गया। इस बार डायलॉग का विषय था ‘उत्तराखंड में रिस्पांसिबल टूरिज्म’। पॉलिसी डायलॉग में शामिल वक्ताओं ने विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से रिस्पांसिबल टूरिज्म की जरूरत पर जोर दिया। साथ ही कैरिंग कैपेसिटी, सस्टेनेबल डेवलपमेंट, संस्कृति, पर्यावरण, कचरा प्रबंधन और पलायन जैसे मसलों पर भी बात हुई।

वैली ऑफ वर्ड फेस्टिवल के डायरेक्टर और आईएएस एकेडमी के पूर्व निदेशक संजीव चोपड़ा का कहना था कि जब हम टूरिज्म की बात करते हैं तो उसके साथ ही हमें अपनी संस्कृति की भी बात करनी होगी। टूरिज्म संस्कृति के प्रचार-प्रसार का एक बड़ा माध्यम है । हम इसके जरिये अपनी परंपराओं, अपने खानपान और अपने उत्पादों को दूसरे समुदायों तक पहुंचा सकते हैं। इसके लिए टूरिज्म के जुड़े सभी हितधारकों को जिम्मेदारी उठाकर रिस्पॉन्सिबल टूरिज्म पर काम करना होगा। भूटान और अन्य देशों का उदाहरण देते हुए उन्होंने रिस्पॉन्सिबल टूरिज्म के अलग-अलग मॉडल की वकालत की।

इंडो गंगा हॉलिडेज की मैनेजिंग डायरेक्टर और एवेंचर टूरिज्म की प्रैक्टिसनर किरन भट्ट टोडरिया ने ऋषिकेश में पिछले 30-35 वर्षों में लगातार बढ़ीं राफ्टिंग और पर्यटन गतिविधियों के बारे में जानकारी दी। उनका कहना था कि पर्यटन के माध्यम से हमारे राज्य को आर्थिक लाभ बेशक हुआ हो, लेकिन इसके लिए हमें अपने पर्यावरण और अपनी संस्कृति को दांव पर लगाना पड़ा है । उन्होंने इस क्षेत्र के सभी ऑपरेटर्स को पर्यावरण और संस्कृति के प्रति संवेदनशील बनाने की बात कही। उन्होंने राज्य की अन्य नदियों में भी राफ्टिंग गतिविधियां शुरू करने की बात कही।

इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट के प्रिंसिपल डॉ. जगदीप खन्ना का कहना था कि राज्य में होम स्टे पॉलिसी में और स्पष्टता लाने की जरूरत है। पर्यटन के माध्यम से संस्कृति के और खानपान के प्रचार-प्रसार के साथ ही उन्होंने टिहरी झील में पर्यटन की असीम संभावनाओं का इस्तेमाल करने की जरूरत बताई। उनका कहना था कि यदि हमें रिस्पॉन्सिबल टूरिज्म की तरफ बढ़ना है तो कैरिंग कैपेसिटी, स्टडी और प्री-प्लानिंग पर ध्यान देना होगा।

चेयर उत्तराखंड चौप्टर-पीएचडी चौंबर ऑफ कॉमर्स के हेमंत कोचर ने टूरिज्म के 12 अलग-अलग मॉडल्स की चर्चा करते हुए उनमें और शोध और सुधार की जरूरत बताई। उनका कहना था कि हमें इस बात पर शोध करना होग कि किस तरह के टूरिस्ट उत्तराखंड आ रहे हैं, वे हमें क्या दे रहे हैं और यहां से क्या लेकर जा रहे हैं। उनका कहना था टूरिस्ट पर कंट्रोल न होने के कारण राज्य में कई टूरिस्ट मनमानी पर उतर आते हैं। बढ़ते ट्रैफिक पर भी उन्होंने चिन्ता जताई। इससे निपटने के लिए उन्होंने पर्यटन में विविधता लाने और नये पर्यटन स्थल विकसित करने की बात कही। साथ ही कचरा प्रबंधन को लेकर सुझाव दिये। उनका कहना था कि राज्य में पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों को सस्टेनेबल टूरिज्म और एसडीजी गोल्स के बारे में ट्रैनिंग देने की जरूरत है।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए एसडीसी फाउंडेशन के अनूप नौटियाल ने नीति आयोग द्वारा वर्ष 2018 में जारी सस्टेनबल टूरिज्म इन इंडियन हिमालयन रीजन रिपोर्ट के अलग-अलग पहलुओं पर जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के सस्टेनेबल टूरिज्म क्राइटएरिया, पर्यावरण मंत्रालय की अक्टूबर 2021 की ईको टूरिज्म पॉलिसी और उत्तराखंड टूरिज्म ड्राफ्ट पॉलिसी 2020 का जिक्र किया। उन्होंने आंकड़ों के माध्यम से चारधाम यात्रा के साथ ही इसी महीने संपन्न हुए पूर्णागिरी मेले, कैंचीधाम मेले और गंगा दशहरा मेेले में आये तीर्थयात्रियों की संख्या के आधार पर पर्यटन के रेस्पॉनिबल मॉडल के बारे में जानकारी दी

पॉलिसी डायलॉग में शामिल लोगों में मुख्य रूप से हुडको रीजनल मैनेजर संजय भार्गव, प्रथम संस्था के परमजीत सिंह, पीएचडी चौंबर ऑफ कॉमर्स के विशाल काला, वैली कल्चर के रॉबिन नागर, शिखा प्रकाश सहित कई अन्य लोग शामिल थे। सभी ने इस तरह के पॉलिसी डायलॉग की सराहना की इस तरह के कार्यक्रमों को समय-समय पर आयोजित करने की बात कही।



[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

लोकसभा चुनाव 2024- पांच सीटों पर 55 दावेदार

भाजपा चुनाव संचालन समिति की बैठक में दावेदारों का पैनल तय देहरादून। भाजपा प्रदेश चुनाव संचालन समिति ने सभी 5 लोकसभा सीटों के लिए 55...

बजट विकास के दृष्टिकोण की दूरगामी सोच को उजागर करने वाला है- महाराज

देहरादून। प्रदेश के पर्यटन, धर्मस्व, संस्कृति, लोक निर्माण, सिंचाई, पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण एवं जलागम, मंत्री सतपाल महाराज ने धामी सरकार के 2024-25 के लिए...

एसजीआरआरयू क्रिकेट में फार्मेसी ने एग्रीकल्चरल साइंसेज़ को किया पराजित

एसजीआरआरयू खेलोत्सव-2024 क्रिकेट, फुटबाॅल, वालीबाॅल, बास्केटबाॅल, शतरंज, कैरम, कबड्डी एवम् बैडमिंटन प्रतियोगिताओं के नाम रहा दूसरा दिन देहरादून। श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय (एसजीआरआरयू)...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

लोकसभा चुनाव 2024- पांच सीटों पर 55 दावेदार

भाजपा चुनाव संचालन समिति की बैठक में दावेदारों का पैनल तय देहरादून। भाजपा प्रदेश चुनाव संचालन समिति ने सभी 5 लोकसभा सीटों के लिए 55...

दिवंगत पंजाबी गायक मूसेवाला के प्रशंसकों के लिए खुशखबरी- घर में जल्द गूंजने वाली है किलकारी 

चंडीगढ़। दिवंगत पंजाबी गायक शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला के प्रशंसकों के लिए खुशखबरी है। मूसेवाला की मां चरण कौर गर्भवती हैं और...

बजट विकास के दृष्टिकोण की दूरगामी सोच को उजागर करने वाला है- महाराज

देहरादून। प्रदेश के पर्यटन, धर्मस्व, संस्कृति, लोक निर्माण, सिंचाई, पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण एवं जलागम, मंत्री सतपाल महाराज ने धामी सरकार के 2024-25 के लिए...

हताश युवा क्या करें?

भारत सरकार ने मान लिया है कि यूक्रेन के खिलाफ युद्ध के लिए रूसी सेना ने कई भारतीय युवाओं की भर्ती की है। इस...

श्री सीमेंट को आयकर विभाग से 261.88 करोड़ रुपये की मांग के खिलाफ मूल्यांकन आदेश मिला

नई दिल्ली।  श्री सीमेंट को आयकर विभाग से 261.88 करोड़ रुपये की मांग के खिलाफ मूल्यांकन आदेश मिला है। कंपनी को निर्धारण वर्ष 2021-22...

एसजीआरआरयू क्रिकेट में फार्मेसी ने एग्रीकल्चरल साइंसेज़ को किया पराजित

एसजीआरआरयू खेलोत्सव-2024 क्रिकेट, फुटबाॅल, वालीबाॅल, बास्केटबाॅल, शतरंज, कैरम, कबड्डी एवम् बैडमिंटन प्रतियोगिताओं के नाम रहा दूसरा दिन देहरादून। श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय (एसजीआरआरयू)...

मंत्री महाराज के उत्तर से संतुष्ट विधायक महेश जीना ने किया आभार व्यक्त

सदन में महाराज के धाराप्रवाह जवाबों से विपक्ष की रणनीति फेल देहरादून। ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों के रिक्त 398 पदों में से उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा...

आज से ही छोडकर देखिए आलू, महीनेभर में समझ आ जाएगा फर्क, होंगे जबरदस्त फायदे

आलू सब्जियों का राजा कहा जाता है। हमारे किचन में आलू की खास जगह है। आलू से कई चीजें बनाई जाती है. बहुत से...

धामी सरकार ने वित्तीय वर्ष 2024-25 का बजट विधानसभा में किया पेश

वार्षिक बजट 2024-25 नवासी हजार दो सौ तीस करोड़ देखें, बजट में नया क्या है बजट भाषण में यूसीसी विधेयक को महिला सशक्तिकरण की दिशा में...

भिक्षावृत्ति के खिलाफ आपरेशन मुक्ति अभियान एक मार्च से होगा शुरू

भिक्षावृति में लगे बच्चों को शिक्षा मुहैया कराई जाएगी भिक्षावृत्ति की सूचना डायल 112 पर दें देहरादून। बच्चों से करायी जा रही भिक्षावृत्ति, बच्चों के साथ...